Monday, December 28, 2020

scabies

 scabies  is an easily spread caused by a very small type of mites.

scabies is  found among people of all age group and ages around the world.

scabies  spread by skin to skin sharing clothes or bedding.

sometimes whole families are affected.

outbreaks of scabies are more common in nursing homes ,nursing facilities ,college hostels ,and child care centres,

The mites that cause scabies burrow into the skin and they lays eggs .this forms a burrow that looks like pencil marks.egg hatches in 21 days .the itchey rashe is an allegric response  to the  mites .

pets and animals cannot spread human scabies ,it is also  not likely for  scabies to be spread by ,

    A swimming pool 

contact with the towels ,bedding and clothing of someone who has scabies unless the person has what is called scabies. 


symptoms 

itching ,most commonly at night.

rashes, mostly between the fingers.

sores (abrashion) on the skin from scratching and digging 

thin pencil mark line on the skin 

mites may be more widespread on a baby skin caused pimples over  the trunk or small blisters over  the palm and soles 

in young children, infection may be  on the head neck shoulder ,palms , and soles of  feet 

in older children and adults the infection may be on the hand wrists genitals and  abdomen. 










best homoeopathic doctor in patna 

best in boring road 

best doctor near me 

best doctor for eczema

best doctor for skin disease

best doctor in dermatology 

best doctor psoriasis 

best doctor for skin complain

best skin doctor for acne 

best skin doctor pimples 

best for treatment for oily skin 

best for muhasa `

best for hair treatment 

homeopathic doctor near me 

homoeopatthic clinic near me 

www.drmayankmadhu.com

https://www.youtube.com/watch?v=ntdtxAJrzaY

#mahaveerhomoeopatna

 


homeopathic doctor in patna

homeopathy doctor in patna

homeopathic

homeopathic clinic near me

homeopathic doctor near me

homeopathic medicine

homeopathic medicine store near me

homeopathic near me

homeopathic store near me

homeopathy clinic near me


Dandruff

 Dandruff is a common chronic scalp condition marked by flaking of the skin on your scalp.dandruff of skin is not contagious and but is seriousa as it is  embarrassing and  sometimes difficult to treat.

The best part is that dandruff can be  can be controlled. mild cases of dandruff may need just shampooing and simple and  gentle cleansers.

causes 

dandruff can have several causes including :

Dry skin  is the most common  cause  of  dandruff. flakes from dry skin are generally smaller and less oily than those from other causes of dandruff and will likely have symptoms and  signs of dry skin on other parts of the body such as your legs and arm

irritated oily skin ( seboric dermatitis )   main causes of dandruff is marked  by red greassy skin covered with flaky white yellow scales. seborrheic dermatitis may affect your scalp and other areas not h rich in oil glad such as your eyesbrows the sides of your nose and the bcks of your ears ayour breastbone your groin area and sometimes your armpits.

 Shampooing oftrn enough .if you dont regularly wash your hair oils and skin from your scalp can build causing dandruff. 

symptoms

white oily dead skin crusts on the shoulder 

itching

RISK FACTORS 

age   adult 

being male 

oily hair and scalp 

poor diet 

certain illness 





































best homoeopathic doctor in patna 

best in boring road 

best doctor near me 

best doctor for eczema

best doctor for skin disease

best doctor in dermatology 

best doctor psoriasis 

best doctor for skin complain

best skin doctor for acne 

best skin doctor pimples 

best for treatment for oily skin 

best for muhasa `

best for hair treatment 

homeopathic doctor near me 

homoeopatthic clinic near me 

www.drmayankmadhu.com

https://www.youtube.com/watch?v=ntdtxAJrzaY

#mahaveerhomoeopatna

 


homeopathic doctor in patna

homeopathy doctor in patna

homeopathic

homeopathic clinic near me

homeopathic doctor near me

homeopathic medicine

homeopathic medicine store near me

homeopathic near me

homeopathic store near me

homeopathy clinic near me


Monday, December 21, 2020

#jointspain जॉइंट्स पेन यानीजोड़ो का दर्द आईये जाने क्यूँ होता है ये दर्द

यु ही कल पार्क में घुमने  निकला तो काफी बुजुर्ग दिखे कुछ  से मेरी पहचान भी थी मैंने पूछा की कैसे हैं अंकल ?तो जबाब आया बेटा कोरोना का तो पता नही पर जोड़ो के  दर्द से मरे जा रहे हैं आखिर क्यूँ होता है इतना दर्द कुछ दावा या उपाय बताओ आखिर क्यूँ ये दर्द साथ नही छोड़ रहा न चला जा रहा न बैठा जा रहा |
मैंने उनसे कुछ बातें साझा की जो आपके लिए भी बहुत फायदेमंद हो सकता है , तो आईये जाने हड्डियों  ,जॉइंट्स  और जॉइंट्स पेन के बारे  में |
उम्र के साथ हड्डियाँ कमजोर पड़ जाती है ये तो सबको मालुम है पर ऐसा होता क्यूँ है ये सवाल ज्यादा जरूरी है 
तो उम्र के साथ हमारे शरीर में बदलाव आता है ,हमारा शरीर उत्तकों से बना है जो स मय के साथ उसमे फर्क आने लगता है 
अब आखिर फर्क क्यूँ आता है ये  बड़ा सवाल है तो महिलाओ में जब मासिक(PERIODS) बंद हो जाता है जिसके कारण हॉर्मोन में  बड़ा बदलाव आता है यही बदलाव के हड्डियों में न पोसक तत्वा ठहरते और न ही आतों द्वारा उसका अवशोषण (ABSORPTION )ठीक से होता है | यही पुरुषों में भी जब TESTOSTERON का श्राव कम हो जाता है तो हड्डियाँ कमजोर होने लगती है |

आईये जानते हैं की दो ऐसे दर्द के कारण जो बढती उम्र के साथ आपको परेशान कर सकते हैं  
तो पहला है ओस्टियोआर्थराइटिस और दूसरा है ओस्टियोपोरोसिस 
ओस्टियोआर्थराइटिस जिसमे  
 जोड़ो में दर्द और जकड पैदा करने वाली बीमारी
ओस्तिओपोरोसिस हड्डियों का कमजोर हो जाना 
उम्र बढ़ने के साथ हमरे सरीर की पाचन क्षमता कम हो जाती है जिसके कारन हड्डियों की हेल्थ के लिए जरूरी कैल्शियम और और विटामिन डी उसके मेटाबोलिज्म में फर्क पड़ता है और इनकी मात्रा शरीर में कम हो जाती है |और इसका असर हड्डियों पर पड़ता है |
हड्डियों में कैल्शियम का स्टॉक कम पद जाता है ये हड्ड्याँ कमजोर हो जाती है ,जिसके वजह से  जरा सी चोट लगने पर फ्रैक्चर हो सकते हैं कारन कैल्शियम की कमी |थाइरोइड और डायबिटीज भी कैल्शियम का कमी कर सकता है | 


हड्डियों और जोड़ो को तन्दुरुस्त रखने की प्रक्रिया बचपन से ही शुरू हो जाती है 
   जिंदगी के शुरुआती के ३० -४० साल बहुत जरूरी है ताकि शरीर की लचक बनी रहे हड्डियों की ताकत बनी रहे 
इस समय जितना ब्य्याम दौडभाग कर सकते हैं करें  ,४० के बाद हड्डियों की ताकत बढ़ाना मुस्किल काम है |
४५ साल के अस्स्पस आप हड्डियों का सिर्फ मैन्टेनेंस कर  सकते हैं 
रोज २-३ किलोमीटर रोज चलें मोर्निंग वाक या इवनिंग वाक करें , इससे हड्ड्याँ में लचक बनी रहती है |योग और प्राणायाम का सहारा ले सकते हैं | लिफ्ट के जगह सीढियों का प्रयोग करें हड्ड्याँ और मंश्पेसी दोनों में मजबूती मिलेगी |