Skip to main content

ALLENS KEY NOTES ON ANTHRACINUM

ANTHRACINUM.

Anthrax Poison. (A Nosode)

In carbuncle, malignant ulcer and complaints with ulceration, sloughing and intolerable burning. When Arsenicum or the best selected remedy fails to relieve the burning pain of carbuncle or malignant ulceration. Haemorrhages: blood oozes from mouth, nose, anus or sexual organs; black, thick, tar-like, rapidly decomposing (Crot.). Septic fever, rapid loss of strength, sinking pulse, delirium and fainting (Pyr.). Gangrenous ulcers; felon, carbuncle, erysipelas of a malignant type. Felon: the worst cases, with sloughing and terrible burning pain (Ars., Carb. ac., Lach.). Malignant pustule; black or blue blisters; often fatal in twenty- four or forty-eight hours (Lach., Pyr.). Carbuncle; with horrible burning pains; discharge of ichorous offensive pus. Dissecting wounds, especially if tendency is to become gangrenous; septic fever, marked prostration (Ars., Pyr.). Suspicous insect stings. If the swelling changes color and red streaks from the wound map out the course of lymphatics (Lach., Pyr.). Septic inflammation from absorption or pus or other deleterious substances, with burning pain and great prostration (Ars., Pyr.). Epidemic spleen diseases of cattle, horses and sheep. Bad effects from inhaling foul odors of putrid fever or dissecting-room; poisoning by foul breath (Pyr.). Hering says: "To call a carbuncle a surgical disease is the greatest absurdity. An incision is always injurious and often fatal. A case has never been lost under the right kind of treatment, and it should always be treated by internal medicine only.".
Relations
. - Similar: to, Ars., Carb. ac., Lach., Sec., Pyr., in malignant and septic conditions. Compare: Euphor. in the terrible pains of cancer, carbuncle or erysipelas when Ars. or Anth. fail to >.

Comments

Popular posts from this blog

आखिर घुटनों में दर्द क्यूँ होता है ?

आखिर घुटनों  में दर्द क्यूँ होता है ? घुटने शरीर का वो अंग हैं    जो हमारे पुरे शरीर का भर उठता है या यु कहें    की घुटना हमारे लिए वेटलिफ्टर का काम करना है तो ये बात ज्यादा अहमियत रखेगा क्यूँ की हम।रा वजन उसी पर टिकता है   |  घुटने की हड्डी को जोड़ने वाले सिरे में एक तरह का कार्टिलेज होती है जो चिकनी और रबर के सामान   मुलायम टिश्यू का एक समूह होती है और यह घुटनों के सही से चलाने में मदद करती है ।   चोट लगने से इस कार्टिलेज को नुकसान होता है ,  या बुढ़ापा के कारण   यह कार्टिलेज धीरे-धीरे घिसने लगता है और घुटने के दर्द या   सुजन   शुरु हो जाती है । परंतु ऐसा कईं बार देखा गया है कि किसी प्रकार की चोट न लगने के बावजूद भी लोग अर्थराइटिस और कईं तरह के रोगों से पीड़ित हो रहे हैं । ऐसा इसलिए हैं क्योंकि इसके और भी कारण हैं ,  आइए जानते हैं   वो कारण और क्या हैं   मोटापा या वजन अधिक होना : इस बात का आप अवश्य ध्यान रखिए कि यदि आपका वजन अधिक है या आप किसी प्रकार से मोटापे के शिकार हैं तो भविष्य में पूरी उम्मीद है कि आपको घुटनों या जोड़ों में दर्द हो सकता है । ऐसा इसीलिए है क्योंकि अ

इम्युनिटी कितने प्रकार के होते हैं ?और कोरोना होने पर इससे कितने दिन के लिए इम्यून रह सकते हैं हमलोग ?

ह्मोयूमोरल इम्युनिटी ( humoral immunity ) और दूसरा है सेल मेडीयेटेड ( cell mediated immunity)  | ह्मोयूमोरल इम्युनिटी ( humoral immunity )क्या होता है ? आईये  थोडा बिस्तार से जाने , हमारे शरीर में मैक्रोमोलेक्यूलस  होते है जैसे  एंटीबॉडीज, प्रोटीन सप्लीमेंट और कुछ एंटीमाइक्रोबियल पेप्टाइड्स | ह्यूमर या  ह्मोयूमोरल इम्युनिटी   (  इम्यूनिटी को इसलिए नाम दिया गया है क्योंकि इसमें ह्यूमरस (humors)  या शरीर के तरल पदार्थों (body fluids )में पाए जाने वाले तत्व  शामिल होते हैं| ह्मोयूमोरल इम्युनिटी प्रतिक्रिया में , पहले बी कोशिकाएं (b –c ells ) अस्थि मज्जा ( bone marrow) में परिपक्व (matures) होती हैं और बी-सेल रिसेप्टर्स ( b-cell receptors/ बीसीआर) प्राप्त करती हैं जो कोशिका की सतह पर बड़ी संख्या में प्रदर्शित (imbedded or displayed on cell surfaces) होती हैं। इन झिल्ली-बद्ध प्रोटीन परिसरों ( membrane   bounded complex   ) में एंटीबॉडी होते हैं जो एंटीजन ( antigens) पहचान के लिए विशिष्ट (specified) होते हैं। प्रत्येक बी सेल में एक अद्वितीय (specific ) एंटीबॉडी होता

Information about covid -19 ayush mantralaya अयुष मंत्रालय state health society Bihar information

Information about covid -19 ayush mantralaya अयुष मंत्रालय state health society Bihar information    Cornavirus update health update  What is COVID-19? COVID-19 is the infectious disease caused by the most recently discovered coronavirus. This new virus and disease were unknown before the outbreak began in Wuhan, China, in December 2019. That is why it was called the Novel (new) Coronavirus. NCoV. It was found in 2019 2. What are the symptoms The most common symptoms of COVID-19 are fever, cough and difficulty in breathing. Some patients may have aches and pains, nasal congestion, runny nose, sore throat or diarrhea. These symptoms are usually mild and begin gradually. Some people become infected but don’t develop any symptoms and don't feel unwell. Most people (about 80%) recover from the disease without needing special treatment. Around 1 out of every 6 people who gets COVID-19 becomes seriously ill and develops difficulty in breathing. Older people, and those